बी एन पब्लिक स्कूल विद्यार्थियों का जावर शैक्षणिक भ्रमण

Jawar educational tour of BN Public School students

बी एन पब्लिक स्कूल विद्यार्थियों का जावर शैक्षणिक भ्रमण



बी एन पब्लिक स्कूल विद्यार्थियों का जावर शैक्षणिक भ्रमण

  भूपाल नोबल्स पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों के लिए शैक्षणिक- भ्रमण का आयोजन किया गया। कक्षा 11 और 12 के विद्यार्थियों के दल को शिक्षकों के निर्देशन में इंटरनेशनल जियो हेरिटेज साइट जावर माइंस ले जाया गया। वहां विद्यार्थियों को जावर के बहु विरासती पहलुओं के बारे में बताया गया। प्रागैतिहासिक काल का जस्ता, ताम्बा, सीसा, चांदी आदि के खनन और गलाने के केंद्र के बारे में जानकारी दी गई। खनन में उपयोग किये जाने वाले लकड़ी के समर्थन की रेडियो कार्बन डेटिंग तथा उनकी आयु के बारे में बताया कि ये ईसा पूर्व पाँचवी से चौथी शताब्दी के रूप में बताई। जावर माता का प्रसिद्ध मंदिर, रामनाथ मंदिर, रमाबाई का कुंड जो कि महाराणा कुम्भा की पुत्री राजकुमारी रमा को उनके भाई महाराणा रायमल द्वारा भेंट स्वरूप दिया था, जैन मंदिर आदि विरासतों के बारे में जानकारी दी गई। विद्यार्थियों ने बिलारिया माइंस में वरुण सिंह जी द्वारा आधुनिक तकनीक से खनन की प्रक्रिया के बारे में जाना एवं समझा। वहां स्थित पावर प्लांट के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। विधार्थियों ने स्लरी का विशाल टैलिंग डेम भी देखा। भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग के डॉ अरविन्द कुमार ने विद्यार्थियों को 2500 वर्ष पूर्व प्रचलित खनन एवं प्रद्रवण के अवशेषों के बारे में अवगत कराया, जस्ता रिटॉर्ट डिस्टिलेशन भट्टीयां एवं संबंधित ऑपरेशन व उनके अवशेषों को समझाया एवं प्रदर्शित किया। रिटॉर्ट्स की पहाड़ियां, राणा प्रताप की शरण स्थल गुफा एवं ऐतिहासिक हिरनया दुर्ग की जानकारी भी दी गयी। साथ में प्राचार्या डॉ सीमा नरुका, डॉ मुरधर राठौड़, डॉ के.एस. राठौड़, प्रेमलता वैष्णव और किरण पँवार उपस्थित थे।